Yadasht Kaise Badaye – Tarika , Kya Khaye

0
67

    Yadasht Kaise Badaye – Tarika , Kya Khaye

Hy Friends आज मै आपको Memory या Yadashat Kaise Badhaye , Yadashat Tez Karne ka tarika और Yadashat Tez Karne ke liye kya khaye आदि समस्याओ के बारे बताउंगी |
                                                             दोस्तों कमजोर याददाश्त के कारण रोजमर्रा की जिंदगी में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है| आजकल हमारे रहन-सहन और खान-पान के साथ सोच बदलती जा रही है| जब एक कक्षा में एक ही टीचर 50 बच्चों को पढ़ाती है तो कुछ बच्चे बहुत एक्टिव और उनकी याददाश्त बहुत अच्छी होती है, परंतु उसी जगह कुछ बच्चों को कुछ समझ में नहीं आता |
तेज यादाश्त वाले बच्चे क्लास में अच्छे नंबरों से पास होते हैं और उम्मीद से ज्यादा अच्छा रिजल्ट लाते हैं और वे  सबकी नजरों में अलग होते हैं |
सभी माता-पिता चाहते हैं, कि हमारा बच्चा पढ़ लिखकर तेज बने और क्लास में अच्छे मार्क्स लाये| किसी भी बच्चे की यादाश्त कमजोर नहीं होती  और  सभी का दिमाग तेज होता है सभी को एक जैसा माहौल मिलता है परंतु कुछ बच्चे अच्छा रिजल्ट देते हैं और कुछ खराब है जो अच्छा रिजल्ट देते हैं उनमें सभी अच्छे गुण होते हैं और उनका सेल्फ कॉन्फिडेंस यानी आत्मविश्वास भी अच्छा होता है बड़ी से बड़ी कठिनाइयों का हल निकाल लेते हैं सोचने की बात यह है कि जब एक जैसा माहौल होता है | और सब कुछ एक जैसा रहता है तो सब के अलग-अलग परिणाम क्यों और कोई आपसे ज्यादा मार्क्स कैसे पा रहा है दोस्तों फर्क माहौल का नहीं फर्क है आपकी सोच का नजरिया का आपकी याददाश्त का और आप के दिमाग का कुछ बच्चे अपनी पढ़ाई को लेकर बहुत चिंतित रहते हैं लेकिन उनकी याददाश्त अच्छी ना होने के कारण भी आगे नहीं बढ़ पाती, बच्चे हरदम पढ़ते रहते हैं पर मार्क्स जीरो और कुछ कम समय देकर अधिक पढ़ लेते हैं| यह कमाल यादाश्त का है| माता पिता चाहते हैं कि उनका बच्चा तेज हो फिर चाहे पढ़ाई हो या खेल का मैदान, यादाश्त अच्छी ना हो तो उन्हें हर जगह शर्मिंदगी महसूस होती है मजाक बनते हैं और उन्हें बोलचाल की भाषा में भुलक्कड़ नाम दे देते हैं और यह समस्या बच्चों को नहीं, सभी उम्र के लिए हो सकती है इसलिए आपको याददाश्त तेज करना बहुत जरूरी है चाहे बिजनेस हो चाहे पढ़ाई हो चाहे खेल कूद का मैदान हूं कोई भी क्षेत्र हो आपको आगे बढ़ना है और आपको अपने मंजिल तक पहुंचना है और सफलता प्राप्त करनी है इसलिए आज मैं आपके लिए एक नया टॉपिक लेकर आया हूं ,याददाश्त कैसे बढ़ाएं अतः आप इसको पसंद करेंगे जो इस प्रकार है –

Yadasht kamjor Hone Ka Karan :

  • अत्यधिक दवाइयां खाने से याददाश्त कमजोर हो जाती है
  • नींद की कमी के कारण भूलने की आदत पड़ जाती है और साथ ही साथ याददाश्त कमजोर होने लगती है सिर पर गहरी चोट लगने से याददाश्त कमजोर हो जाती है |
  • ड्रग्स का अत्यधिक उपयोग करने से भी याददाश्त कमजोर हो जाती है
  • तनाव है मेमोरी प्रॉब्लम का कारण
  • यादाश्त कमजोर होने का कारण तनाव और अवसाद है तनाव हमारे मस्तिष्क में याददाश्त स्टोरेज की प्रक्रिया में कार्य करता है तनाव होने पर कई बार हम चीजों को रखकर भूल जाते हैं |
  • healthy food की कमी
  • अत्यधिक गरिष्ठ अधिक तैलीय भोजन करने  से भी  याददाश्त कमजोर हो जाती है शराब के सेवन से याददाश्त कमजोर हो जाती है| मिर्च – मसाला, तला भुना  भोजन नहीं करना चाहिए|

Yadashat Kamjor Hone Ki Vajah :

बढ़ती उम्र की वजह से भी यादाश्त कमजोर हो जाती है लेकिन यदि आप अपने शरीर के प्रति जागरुक है तो जरूरी नहीं कि उनके साथ आपकी याददाश्त कमजोर हो जाए मस्तिष्क कोशिकाओं की मरम्मत में हमारा शरीर कम प्रभावी होता है मस्तिष्क में ज्यादातर जिम्मेदार होती हैं लेकिन जैसे जैसे उम्र बढ़ती है यह कमजोर हो जाती हैं |

अधिक दवाइयों के सेवन से – अधिक दवा से भी यादाश्त कमजोर हो जाती है  कभी-कभी हमारे सिर में दर्द होती है तो हम कोई भी सिर दर्द को ठीक करने की टेबलेट खा लेते हैं और यह बिल्कुल गलत है हमें जांच कराने के बाद डॉक्टर की सलाह पर दवा लेनी चाहिए| अल्जाइमर रोग उन बीमारियों में से एक है  जो यादाश्त को प्रभावित करता है यह दिमाग की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है अत्यधिक दवा खाने से भी मस्तिष्क पर बहुत बुरा |

प्रभाव पड़ता है नींद की कमी के कारण – जितना आप काम करते हैं उसी हिसाब से आपको नींद लेनी चाहिए क्योंकि, यदि आप नीद कम लेंगे तो आप कोई भी काम ढंग से नहीं कर पाएंगे| नींद की कमी दिमाग की याद करने की क्षमता को प्रभावित करती है जब हम सोते हैं, तो हमारा मस्तिष्क उन घटनाओं को बचाता है जो पूरे दिन में घटित होती हैं और साथ ही साथ मस्तिष्क को भी आराम मिल जाता है

सिर पर गहरी चोट भी है याददाश्त कमजोर होने की वजह – सिर पर गहरी चोट की वजह से याददाश्त कमजोर हो जाती है यह अक्सर देखा जाता है कि एक दर्दनाक चोट या दुर्घटना के ठीक बाद कोई व्यक्ति पिछली घटनाओं को याद करने में सक्षम नहीं होता यादाशत तभी वापस आती है जब  कई थेरेपी की जाती है लेकिन कभी-कभी गंभीर मामले में हमेशा के लिए यादाश्त चली जाती है

ड्रग्स का अत्यधिक उपयोग करने से – अत्यधिक ड्रग्स का प्रयोग करने से जैसे सिगरेट पीना पान मसाला खाना शराब पीना और कई नशीली चीजों का उपयोग करने से याददाश्त कमजोर हो जाती है

Yadasht Tez Karne Ka Tarika / Kya Khaye :

जब हम अपने दोस्तों के साथ स्कूल में बिताए गए सुंदर पलों को याद करते हैं तो कितना अच्छा लगता है कभी सोचा है अगर वह सब याद नहीं रहे तो क्या होता अगर कमजोर याददाश्त के कारण उन सारे पलों को भूल जाए तो क्या होगा आप कुछ बदलाव करके इस समस्या से निजात पा सकते हैं तो कुछ  बदलावों के बारे में बात कर रहा हूं जो आपकी याददाश्त बढ़ा सकते हैं

 क्या खाएं –

  • आप जो भी खाए पौष्टिक और सुपाच्य भोजन ही खाएं अपने भोजन में हरी सब्जियां विटामिन बी1 विटामिन बी 12 जैसे विटामिन को शामिल करें भोजन में देसी घी खाएं प्रोटीन युक्त दाल खाएं घी के सेवन से आपकी याद करने की शक्ति बढ़ती है
  • याददाश्त कमजोर होने की वजह शराब
  • शराब पीने से बचना चाहिए क्योंकि अत्यधिक शराब को पीने से इंसान भ्रमित हो जाता है और मस्तिष्क की कोशिकाओं को प्रभावित करता है
  •  रोजाना गर्म दूध पिए बादाम खाएं क्योंकि दिमाग तेज करने के लिए बादाम सबसे अच्छा है
  • अखरोट और ब्लूबेरी का उपयोग करें
  •  योग करने से आपके अंदर सकारात्मक सोच अच्छे विचारों को बढ़ाने में मदद मिलती है
  •  शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए सूर्य नमस्कार करना चाहिए व्यायाम करने से रक्त का बहाव पूरे शरीर में होता है ध्यान और योग करने से तनाव दूर होता है शरीर में स्फूर्ति होती है और यह स्वस्थ भी रहता है योग करने से मन खुश रहता है और ताजगी रहती है व्यायाम शरीर और मस्तिष्क में उचित रक्त परिसंचरण करने में मदद करता है
  • बढ़ाएं स्मरण शक्ति जब आप सोकर सुबह उठते हैं तो अपने आप को ताजा महसूस करते हैं जितना आप काम करें उसी प्रकार पर्याप्त नींद ले आपने यह महसूस किया होगा जिस दिन आपकी नींद नहीं पूरी होती उसकी अगली सुबह स्वस्थ और निरस लगती है यदि आप की रात की नींद अच्छी होती है तो उसकी अगली सुबह भी बहुत अच्छी होती है |
  • दिमागी टेस्ट की सहायता लें
  • गणित के जटिल प्रश्न लगाओ पहेली सुलझाए दिमागी कसरत करें सुडोकू खेले जो आपको अच्छा लगता है वह कार्य करें|
  • भोजन के साथ सलाद जैसे:- मूली, गाजर, चुकंदर खाना चाहिए क्योंकि उन्हें खाने से दिमाग का व्यायाम होता है |
  • मानसिक क्षमता और स्मरण शक्ति को बढ़ाए |
  • सुबह खुली हवा में घूमने जाएं
  • पौष्टिक आहार लें
  • योग करे

याददाश्त बढ़ाने के आयुर्वेदिक नुस्खे बचाव Yaddast badane ke Ayurwadik Nuskhe Bachav :

 

तुलसी Tulsi

तुलसी में एंटीबायोटिक एंटीआक्सीडेंट मौजूद होते हैं जिससे दिमाग तेज होता है|10 तुलसी पत्ते, पांच काली मिर्च और बादाम और थोड़ा सा शहद मिलाकर पीने से याद करने की क्षमता बढ़ती है इसका आसानी से उपयोग कर सकते है|

 हल्दी पाउडर Haldi pawder

 हल्दी पाउडर खाने से दिमाग एक्टिव और स्वस्थ रहता है हल्दी खाने से दिमाग की मरी हुई और एक्टिव ना होने वाली कोशिकाओं को एक्टिव करता है

 ब्राह्मीBrahami

थकान से बचाने के लिए ब्राह्मी बहुत लाभदायक होता है रोजाना एक चम्मच ब्राह्मी खाना चाहिए और  ब्राह्मी में तनाव और डिप्रेशन को कम करती है आधा चम्मच ब्राह्मी का पाउडर और इसमें थोड़ा इलायची डालकर रोज सेवन करें

बादाम Badam

बादाम सर्वश्रेष्ठ उपाय है दिमाग को तेज करने का या दिमाग को तेज करने के साथ आंखों की रोशनी को बढाता है बादाम को कैसे प्रयोग में लाएं इसकी वजह बता रहे हैं क्योंकि बादाम बहुत गर्म होती है ज्यादा  खाने से दाने निकल आते हैं इसलिए आपको विधि बता रहे हैं जो इस प्रकार है
रात में 4_5 बादाम पानी में भिगो दें सुबह इन के छिलके निकाल कर पीस लें पीसने के बाद इस पेस्ट को दूध में डालकर गर्म करें स्वाद के लिए चीनी, ड्राई फ्रूट डाल सकते हैं तो जाना इसका सेवन करें इसको पीने से दिमाग तेज होगा और भूलने की बीमारी दूर होगी|

 कलौंजी Karauzi

कलौंजी खाने से दिमाग तेज रहता है| डेढ़ चम्मच कलौंजी में थोड़ा सा शहद मिलाकर कुछ दिनों तक इसका सेवन करें|

आवला Awala

रोज दिन में तीन बार आंवला का चूर्ण दो या तीन बार सेवन करें| आंवला की जड़ को तिल के साथ मिलाकर पाउडर बना लें और शहद मिलाकर इसका सेवन करें| आंवले का मुरब्बा खाने से  शक्ति बढ़ती है इसमें शक्ति को बढ़ाने में बहुत लाभदायक उपाय है

 नारियल का तेल Coconut oil

नारियल का तेल मस्तिष्क की कोशिकाओं के लिए यादाश बढ़ाने में अहम भूमिका रहती है या मस्तिष्क को एनर्जी देता है

 दालचीनी शहद Dalchini Shhad

दालचीनी और शहद मस्तिष्क के तनाव को दूर करता है डॉक्टर बताते हैं और शोध के द्वारा पता चलता है कि दालचीनी को सुघने मात्र से याददाश्त बढ़ती है रात में सोने से पहले एक चम्मच शहद खाने सेफायदा मिलता क्योंकि शहद के सेवन से नींद अच्छी आती है और यादाश्त बढ़ता है

 सेब Apple

सेब खाने से बहुत फायदे हैं क्योंकि सेब में स्मरण शक्ति बढ़ाने की औषधि क्षमता पाई जाती है इसके लिए सेब को छीलकर नहीं बल्कि सेब को बिना छीले ही खाए सेब खाने से स्मरणशक्ति में लाभ होता है और दांतो की और मस्तिष्क की कसरत हो जाती है

 पिस्ता Pista

जिन बच्चों और बड़ी उम्र के व्यक्ति की यादाश्त कमजोर होती है उन्हें दूध और पिस्ता चीनी मिलाकर गर्म करें और पिएं क्योंकि पिस्ता में भी बादाम जैसे गुण पाए जाते है

 अखरोट Akhrot

अखरोट भी यादाश्त को बढ़ाने का काम करता है इसमें मस्तिष्क से संबंधित सभी रोगों को खत्म करने की क्षमता पाई जाती है अखरोट की बनावट बिल्कुल दिमाग  जैसी होती है तो दोस्तों अभी से अखरोट खाना शुरु कर दें

 शंखपुष्पी Shankhpuspi

रोजाना आधा चम्मच शंखपुष्पी एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर सेवन करने से दिमाग में ब्लड का सरकुलेशन अच्छा रहता है और याददाश्त बढ़ती है

रोजमेरी Rozmery

रोजमेरी एक ऐसा पौधा है जिसका उपयोग दिमाग की मानसिक बीमारियों को ठीक करने के लिए एक उपयोगी औषधि है यह एकाग्रता और ध्यान को बढ़ाने में मदद करता है एक गिलास पानी में रोजमेरी को डालकर चाय बना ले या काढ़ा बनाकर पिएं

 जिंको बाइलोबा Ginkgo Biloba

क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को ठीक करने में सहायता करता है जो अल्जाइमर के लिए अच्छा है जिंको बाइलोबा की पत्तियों को पीसकर पाउडर बना लें इस पाउडर को एक चम्मच दूध में मिलाकर प्रतिदिन दो या तीन बार सेवन करें

 अश्वगंधा Aswagandha

अश्वगंधा बेहतरीन जड़ी बूटियों में से एक है या प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और याददाश्त बढ़ाने में काम करता है एक गिलास उबले हुए गर्म दूध अश्वगंधा की जड़ को मिलाकर रात में सेवन करें इस उपयोग से अच्छी नींद आती है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here