Peliya : Prakar , Lakshan , Ellaj, Diet, Bachav

0
58

दोस्तों आज मैं आपको पीलिया के बारे में संक्षिप्त जानकारी दूंगी Peliya kya hai Peliya ke prakar Peliya ke lakshan Peliya ke Karan Peliya ke ellaj upay diet Peliya ke bachav पीलिया एक ऐसा रोग है जो आपके पूरे शरीर को नुकसान पहुंचाता है इसलिए आज हम आपके लिए पीलिया से जुड़ी कई   जानकारियां देंगे जो इस प्रकार हैं

बिलीरुबिन नामक पदार्थ से पीलिया रोग होता है या पदार्थ लाल रक्त कणिकाओं से बनता है शरीर में कई रक्त कणिकाएं मरती है और कहीं रक्त कणिकाएं जन्म लेती हैं मरी हुई रक्त कणिकाओं को हटाने का काम लीवर यकृत करता है इसी दौरान बिलीरुबिन पदार्थ का जन्म होता है बिलीरुबिन शरीर के ऊतकों और  ब्लड में होता है जब कभी लाल रक्त कणिकाएं टूट जाती है तो बिलीरुबिन पदार्थ बनता है बिलीरुबिन रक्त से लीवर की ओर तथा लीवर से साफ होकर शरीर से निकल नहीं पाता है तो पीलिया रोग हो जाता है यदि लाल रक्त कणिकाएं वक्त से पहले ही टूट जाती हैं तो इनकी संख्या इतनी बढ़ जाती है कि इनको लीवर साफ नहीं कर पाता और इस दौरान बिलीरुबिन की संख्या में बढ़ोतरी हो जाती है इसे प्रीटी प्रीटी पीलिया हेमोलीटिक पीलिया कहते हैं छोटे  बच्चों में यह लोग जल्दी होता है क्योंकि नवजात शिशुओं में एंजाइमों की कमी रहती है और उनका लीवर भी मजबूत नहीं होता है बिलीरुबिन एक पीला पदार्थ होता है जैसे जैसे लाल रक्त कणिकाएं कम होती है वैसे वैसे हमारे शरीर में पीलापन आने लगता है कुछ दवाइयों से कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है और इससे भी पीलिया रोग हो सकता है

पीलिया के प्रकार peliya ke prakar

पीलिया मुख्यता तीन प्रकार का होता है

हेपेटाइटिस ए : यह पेट की बीमारी तथा चोट के कारण होता है

हेपेटाइटिस बी : यह लाल रक्त कणिकाओं के कम होने के कारण तथा बिलीरुबिन ज्यादा बनने के कारण होता है

हेपेटाइटिस नान A तथा हेपेटाइटिस नान B : पित्त नलिका में  गड़बड़ी के कारण यह होता है

आयुर्वेद में पीलिया रोग पांच प्रकार का होता है

  1. वातज
  2. पित्तज
  3. कफज
  4.  सन्निपातज़
  5. रुछज

पीलिया रोग के लक्षण peliya Rog ke lakshan

  • रात में कम दिखाई देता है
  • पीलिया पीड़ित रोगी की आंखें पीली होती हैं
  • नाखूनों का रंग पीला होता है
  • पीलिया पीड़ित रोगी का मल बदबूदार  और पीला होता है
  • पीलिया  पीड़ित रोगी की पेशाब भी पीली होती है
  • पीलिया पीड़ित रोगी का लीवर भी कमजोर होता है
  • पतले दस्त आना शुरू हो जाते हैं
  • मरीज को बुखार रहता है
  • जी मिचलाता है और उल्टियां भी आती है
  • पीलिया के रोगी को भूख नहीं लगती है
  • पीलिया  पीड़ित रोगी के पेट में दर्द होती है
  • रोगी का वजन कम हो जाता है
  • पेट में गैस बनना शुरू हो जाती है
  • रोगी को आलस  बना रहता है
  • पीलिया पीड़ित रोगी के जोड़ों में दर्द रहता है
  • पीलिया के रोगी का रक्त संचार ठीक से नहीं होता है पीलिया पीड़ित रोगी को सुस्ती और थकान महसूस होती है
  • शरीर में जलन और खुजली होती है
  • पेट कब्ज पेट दर्द सिर दर्द जैसी समस्याएं रहती हैं
  • पेट में सूजन आ जाती है
  • स्टूल का रंग बदल जाता है क्योंकि बिलीरूबिन की अधिक मात्रा पर शान द्वारा निकल जाती है और जितना बसता है वह पूरे शरीर में फैल जाता है बचता है वह पूरे शरीर में फैल जाता है
  • नींद से जुड़ी समस्याएं भी रहती हैं

पीलिया रोग के कारण peliya rog ke karan

  • रोगी का खून किसी स्वस्थ व्यक्ति में चढ़ाने से पीलिया रोग हो सकता है
  • शरीर में अम्ल  की बढ़ोतरी से भी पीलिया रोग हो सकता है
  • बहुत दिनों तक मलेरिया रोग रहने से पीलिया रोग हो जाता है
  • रोगी को लगाई गई सुई किसी स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में लगाने से पीलिया रोग हो जाता है
  • पित्त की नली में पथरी बनने से भी पीलिया रोग हो सकता है
  • ज्यादा मिर्च मसाला तथा चटपटा अचार खाने से पीलिया रोग हो सकता है
  • ज्यादा शराब पीने से तथा नशीली चीजों का सेवन करने से भी पीलिया रोग हो सकता है
  • खून में हीमोग्लोबिन की कमी के कारण भी पीलिया रोग हो सकता है
  • संक्रमण के कारण भी पीलिया रोग हो सकता है
  • लीवर में घाव होने के कारण पीलिया रोग हो सकता है
  • लीवर को ठीक ढंग से काम ना करने के कारण यह रोग हो सकता है
  • दूषित भोजन करने से भी पीलिया रोग हो सकता है
  • दूषित जल बाहरी चीजें खाने से भी पीलिया रोग हो जाता है

पीलिया में क्या खाएं peliya rog me Kya khaye

पीलिया में रोगी को हरी सब्जियां जैसे लौकी पालक मूली का साग बनाकर खाना चाहिए और नींबू का रस मूली का रस टमाटर का रस पीना चाहिए और नारियल का पानी पीना चाहिए इससे पीलिया रोग में फायदा मिलता है करेला खाना चाहिए गेहूं अंगूर किशमिश बादाम इलायची आदि चीजें खानी चाहिए पुराने चावल ताजे और पके फल मूंग की दाल चने का पानी मूली आदि स्वास्थ्यप्रद चीजें खानी चाहिए

पीलिया में क्या ना खाएं peliya rog me Kya nahi khaye

पीलिया में अत्यधिक मसालेदार खाना नमकीन चिकने वाला भोजन नहीं खाना चाहिए क्योंकि यह सभी लीवर के लिए हानिकारक है मैदा नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे भी लीवर कमजोर हो जाता है लीवर के कमजोर होने से पीलिया रोग बहुत जल्दी होता है दाल और कार्बोहाइड्रेट से युक्त भोजन को करने से बचना चाहिए अधिक बाहरी चीजें नहीं खाना चाहिए शराब और नशीली चीजों का प्रयोग ना करें पेट भर कर खाना नहीं खाना चाहिए ठंडी चीजें मछली मांस इन सभी चीजों से दूर रहना चाहिए पीलिया पीड़ित रोगी को बिना हल्दी वाला भोजन देना चाहिए

पीलिया का आयुर्वेदिक उपचार इलाज घरेलू नुस्खे peliya ka

Ayurvadik upchar ellaj gharelu nushkhe

चूना chuna

चूने के सेवन से पीलिया रोग ठीक हो जाता है बहुत थोड़ा चूना लेकर गन्ने के रस में मिलाकर पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है इसे पीने से 20 25 दिन में पीलिया रोग ठीक हो सकता है

नीम neem

  • 6 ग्राम नीम और 6 ग्राम सफेद पुनर्नवा की जड़ को पीसकर गर्म पानी के साथ पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • तीन चम्मच नीम की पत्तियों का रस आधा चम्मच   सोंठ का पाउडर और चार चम्मच शहद को एक साथ मिलाकर खाने से पीलिया में आराम मिलता है
  • नीम की जड़ को महीन पीसकर 1 ग्राम की मात्रा में सुबह और शाम को 5 ग्राम घी में 10 ग्राम शहद के साथ मिलाकर खाने से पीलिया रोग में फायदा मिलता है
  • नीम के जड़ को 1 ग्राम की मात्रा में पीसकर दूध या पानी के साथ सेवन करने से पीलिया में फायदा मिलता है
  • नीम के पत्तों को पीसकर 200 ग्राम की मात्रा मैं चीनी डालकर पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है और खून भी साफ रहता है
  • नीम की छाल के रस को और शहद    सॉन्गको मिलाकर चूर्ण बना लें और सभी को मिलाकर पीलिया पीड़ित रोगी को पिलाने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • 10 मिलीलीटर नीम के पत्तों के रस में 10 मिलीलीटर अडूसा के पत्तों के रस तथा 10 ग्राम शहद को मिलाकर सुबह पीने से फायदा मिलता है
  • नीम की कोमल पत्तियों को पीसकर शहद में मिलाकर पीने से पीलिया में फायदा मिलता है नीम की छाल शॉट कालीमिर्च  बादशाह चिरायता गिलोय का काढ़ा बनाकर ठंडा कर ले शहद मिलाकर पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • नीम की पत्तियों को पीसकर 250 मिलीलीटर रस को निकालकर मिश्री मिलाकर गर्म कर लें और ठंडा होने पर पीने से पीलिया में फायदा मिलता है

नीम की पत्तियों का आधा चम्मच चुटकी भर सॉन्ग शॉर्ट शहद दो चम्मच सभी को एक साथ मिलाकर दो बार सेवन करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है

शिलाजीत shelajeet

शिलाजीत में केसर और मिश्री को मिलाकर दूध के साथ सेवन करने से कफ वाली पीलिया में लाभ मिलता है

हल्दी Haldi

  • हल्दी को पानी में डालकर पीस लें और फिर कुछ थोड़ी  हल्दी लेकर काढ़ा  बना ले देसी घी और हल्दी की लुगदी और काला डालकर धीमी आंच पर गर्म करें और तब तक गर्म करें जब तक केवल  घी ना रह जाए इस   घी के सेवन से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • दही में हल्दी डालकर खाने से पीलिया रोग में फायदा मिलता है
  • छाछ में थोड़ी सी हल्दी डालकर रोजाना सुबह-शाम पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है

निशोथ Nesoth

  • निशोथ के चूर्ण में 20 ग्राम शक्कर को मिलाकर 10 ग्राम की मात्रा में रोजाना सुबह और शाम को खाने से पीलिया रोग में फायदा मिलता है

तंबाकू Tabaku

  • तंबाकू  का धूम्रपान करने से भी पीलिया रोग में फायदा मिलता है

अडूसा ADUSHA

  • अडूसे के रस में कलमी शोरा डालकर पीने से पीलिया रोग में लाभ होता है

त्रिफला Trifala

  • त्रिफला   कुटज तथा ढाक, मोटापे तथा पीलिया को ठीक करता है
  • आधा चम्मच त्रिफला का चूर्ण और नीम का रस गिलोय का रस को एक साथ मिलाकर पीस लें और शहद के साथ खाने से 15 दिनों में पीलिया रोग गायब हो जाता है
  • त्रिफला गिलोय कुटकी नीम की छाल को पीसकर पानी में पका लें और इन सभी का काढ़ा बनाने काले को शहद के साथ सुबह और शाम को सेवन करने से पीलिया रोग से निजात मिलती  है
  • 40 मिलीलीटर त्रिफला के काले में 5 ग्राम शहद मिलाकर पीने से पीलिया रोग में फायदा मिलता है

हरड़ Hard

  • हरड़ को गाय के पेशाब में पकाकर खाने से भी पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • हरण की छाल बहेड़ा की छाल काली मिर्च दालचीनी नागर मोथा थोड़ी-थोड़ी मात्रा में मिलाकर पीस लें दिन भर में चारों खुराकों को शहद के साथ खाएं इससे पीलिया में लाभ मिलता है 15 दिनों तक इसी तरह खाए
  • हरड़ को करेले के पत्तों के रस में पीसकर पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • हरण के छिलके और मिश्री को मिलाकर चूर्ण बना लें और सुबह शाम को पानी के साथ सेवन करें पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • हरण को गाय के मूत्र में भिगोकर रख दें फिर थोड़ी देर बाद इसे गोमूत्र में मिलाकर इसका सेवन करें इसे खाने से पीलिया रोग में बहुत फायदा मिलता है

लोहा LOHA

  • लौह सार तथा  आंवले के चूर्ण को मिलाकर खाने से पीलिया रोग दूर होता है
  • 2 ग्राम लोहे की जंग तथा 6 ग्राम गुड़ के साथ मिलाकर खाने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है

काली मिर्च kalimirch

  • 9 सप्ताह तक काली मिर्च का चूर्ण  छाछ के साथ मिलाकर पीने से पीलिया रोग में लाभ होता है

सत्यानाशी satyanashi

  • सत्यानाशी की जड़ का चूर्ण खाने से पीलिया रोग में फायदा मिलता है

नींबू Neebu

  • नींबू का रस सुबह और शाम पीड़ित को देने से पीलिया रोग में फायदा मिलता है
  • कागजी नींबू का रस एक गिलास पानी में प्रतिदिन दो तीन बार सेवन करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • नींबू की चाय बनाकर भी पी सकते हैं क्योंकि नींबू की चाय से पेट तथा लीवर की सभी समस्याएं दूर होती है

मदार Madar

  • मदार की जड़ की छाल और कालीमिर्च को एक साथ मिलाकर पीस कर दिन में दो बार पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • मदार की कुछ पत्तियों और उसी अनुपात में मिश्री मिलाकर पीस लें और छोटी छोटी गोली बना ले और इन्हीं गोलियों को तीन बार खाने से पीलिया में लाभ मिलता है
  • डेढ़ ग्राम मदार की छाल और काली मिर्च 3 ग्राम पुनर्नवा की जड़ को पानी में मिलाएं और छानकर दिन में दो बार पिएं इससे पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • मदार की मुलायम पत्तियों को सुबह उठकर चबाकर खाने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है

मेहंदी  mehendi

  • मेहंदी की पत्तियों को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह छानकर रोगी को पिला दे इससे पीलिया रोग बिल्कुल ठीक हो जाता है
  • मेहंदीकी पत्तियों को रात में भिगोकर रख दें और सुबह शाम लें इसे गर्म करें इसमें नीम का रस और चीनी मिलाकर पिएं इससे पीलिया रोग जड़ से मिट जाता है

तोरई taroee

  • कड़वी तोरई के रस की कुछ बूंदें नाक में डालने से नाक से पीले रंग का पानी निकलने लगता है और कुछ ही दिनों में पीलिया रोग ठीक हो जाता है

रीठा reedha

  • रीठे के छिलके को पीसकर पानी में भिगो दें और सुबह इसी पानी की कुछ बूंदे नाक में डालने पर पीलिया रोग में फायदा होता है
  • रीठे  का  छिलका तथा गांव जवा को पानी में भिगो दें और फिर सुबह उठकर पानी पी ले  सप्ताह भर पीने से पीलिया रोग में लाभ होता है

पुनर्नवा punarnava 

  • पुनर्नवा के रस या मकोय के रस में शहद मिलाकर दिन में 3 बार पीने से पीलिया रोग में लाभ होता है
  • पुनर्नवा की जड़ को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और 21 टुकड़ों की माला बनाकर पीलिया से पीड़ित व्यक्ति को पहनाने से पीड़ित व्यक्ति को पीलिया रोग से निजात मिलता है
  • पुनर्नवा का रस सुबह शाम भोजन के बाद शहद के साथ खाने से पीलिया रोग में लाभ मिलता है

अदरक Adarak

अदरक को गुड़ के साथ मिलाकर खाने से पीलिया रोग में फायदा मिलता

गर्म पानी में अदरक को कसकर डाल ले और गर्म कर ले फिर चुटकी भर नमक डालकर गुनगुना कर कर करके पिए इससे भी पी लिया कम हो जाती है

द्रोणपुष्पी dronpushpe

  • द्रोणपुष्पी के पत्तों की कुछ बूंदें आंखों में डालने से आंखों का पीलापन कम होता है

मकोय makoy

  • मकोय के काढ़े में हल्दी डालकर पीने से पीलिया में फायदा मिलता है
  • मकोय के रस को हल्का गुनगुना करके सप्ताह भर पीने से पीलिया में लाभ मिलता है

क्सुम्बा

कसूम्बा के फूलों का चूर्ण बनाकर चाटने से पीलिया रोग ठीक हो जाताहै

आलू Aaloo

  • आलू तथा आलू के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है

बकरी का दूध Bakari ka dhoodh

  • बकरी के दूध के साथ समुद्रफेन को मिलाकर या घिसकर पीने से पीलिया रोग दूर हो जाता है

गाय का दूध Gay ka dhoodh

  • क्रीम निकाला हुआ दूध पीना पीलिया में फायदा करता है
  • गाय के दूध में शहद मिलाकर पीने से पीलिया नष्ट हो जाता है

पुदीना pudeena

  • पुदीना की चटनी बनाकर खाने से पीलिया रोग में फायदा होता है
  • पुदीने के रस में शहद मिलाकर चाटने से पीलिया ठीक हो जाता है
  • पुदीने के अधिक सेवन से पीलिया रोग ठीक हो जाता है

बबूल babul

  • बबूल के फूलों के चूर्ण में मिश्री मिलाकर कुछ मात्रा में रोजाना खाने से फायदा मिलता है

भांगरा Bhangara

  • भांगरे के रस में दही मिलाकर खाने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है
  • भांगरे के रस में काली मिर्च डालकर खाने से पीलिया में लाभ होता है बेल

बेल bel

  • बेल के पत्तों के रस में काली मिर्च का चूर्ण डालकर पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है|

दोस्तों , आशा है आपको हमारी यह पोस्ट Peliya : Prakar , Lakshan , Ellaj, Diet, Bachav काफी पसंद आई होगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here