Network Kya Hai aur Kitne Parakar Ke Hote Hai ?

Network Kya Hai aur Kitne Parakar Ke Hote Hai ?

Network In Hindi : नमस्ते दोस्तों आज मैं आपको बताने जा रहा हूं कि Network Kya Hai और Network कितने प्रकार के होते हैंआप सभी ने नेटवर्क का नाम तो सुना होगा। लेकिन आपको पता है नेटवर्क क्या होता है और नेटवर्क के प्रकार कितने होते हैं। तो चलिए फ्रेंड्स आज मैं आपको बताता हूं Network Kya Hota Hai और नेटवर्क के प्रकार कितने होते हैं। तो सबसे पहले हम आपको बताते हैं कि नेटवर्क क्या होता है।

Network Kya Hota Hai

जब एक डिवाइस दूसरे डिवाइस से कनेक्ट होता है एक मीडियम के द्वारा और आपस में Informations शेयर करता है तो  हम Network कह सकते हैं। ऐसे बोला जाए तो कंप्यूटर Networking डिजिटल टेलीकम्यूनिकेशन नेटवर्क है जो नोट्स को resourse को शेयर करने की अनुमति देती है। कंप्यूटर नेटवर्क में नेटवर्क कंप्यूटिंग डिवाइस इस डाटा लिंग का प्रयोग करते हुए एक दूसरे के साथ देता Exchange करता है। नोट्स के बीच कनेक्शन के लिए केबल मीडिया या Wild is Media का प्रयोग किया जाता है। कंप्यूटर नेटवर्किंग हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कॉन्बिनेशन से बनाया जाता है। जैसा की हम लोग जानते हैं कि नेटवर्क में इंफॉर्मेशन को एक्सचेंज करने के लिए प्रोटोकॉल और एल्गोरिथ्म का इस्तेमाल भी होता है और हम यह भी जानते हैं कि नेटवर्क एक हर एक inpoint जीन्हे कभी-कभी host भी कहते हैं। जो कि एक यूनिक आइडेंटिफाई जो अक्सर एक IP Address या एक मीडिया एक्सेस कंट्रोल मैक एड्रेस होता है। नेटवर्क के द्वारा हम लोग सभी जानते हैं कि एक जगह से दूसरी जगह तक हम लोग इंफॉर्मेशन शेयर कर सकते हैं घर बैठे। नेटवर्क आपस में एक दूसरे से जोड़ने कंप्यूटर का एक समूह है कंप्यूटर नेटवर्किंग की मदद से हम लोग उपभोक्ता उपकरणों प्रोग्रामों संदेशों और सूचनाओं को एक ही जगह पर रखकर उनके साथ भागीदारी बना सकते हैं।

नेटवर्क स्थापित करने के लिए मुख्य उपकरण निम्नलिखित नीचे है।

  • रिपीटर
  • स्विच
  • हव
  • राइटर्स
  • गेटवे
सीधे हम लोग कहे तो एक नेटवर्क केवल दो या दो से अधिक Computer सिस्टम का एक group है। जो किसी तरह के एक साथ आपस में जुड़े हैं। ताकि वह उनके बीच डाटा शेयर कर सकें और इंफॉर्मेशन शेयर कर सकें जैसा की हम लोग सभी जानते हैं कि अलग-अलग प्रकार के नेटवर्क अलग-अलग सर्विस प्रोवाइड करती है। और उन्हें ठीक से काम करने के लिए अलग-अलग चीजों की जरूरत होती है।
कंप्यूटर नेटवर्क में जुड़े हर एक कंप्यूटर को नोट कहते हैं। आमतौर पर हम लोग कहे तो डाटा शेयरिंग के साथ नेटवर्क मैं रिसोड सेटिंग भी करते हैं। जैसे की प्रिंटर फाइल सरवरिया इंटरनेट की resourse sharing से मतलब है कि जब हम किसी एक विशेष या डिवाइस को अलग-अलग नोट या कंप्यूटर से इस्तेमाल करते हैं तो उसे रिस्टोर शेयरिंग बोलते हैं। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि Cyber Cafe में जाते हैं वहाँ 20 से 25 कंप्यूटर लगे होते हैं पर प्रिंटर एक ही होता है जब भी आपको प्रिंट निकालनी होती है तो आप कोई भी कंप्यूटर से प्रिंट करें पर प्रिंट एक ही प्रिंटर से होती है इसे resourse sharing कहते हैं।
चलिए अब आपको हम नेटवर्क के फायदे बताते हैं।
  1. हम लोग किसी भी फाइल या इंफॉर्मेशन को आसानी से कहीं भी भेज सकते हैं नेटवर्क के द्वारा।
  2. हम लोग आसानी से और तेजी के साथ कम्युनिकेशन कर सकते हैं।
  3. हम लोग कोई भी हार्ड वेयर शेयर आसानी से कर सकते हैं।
  4. हम लोग कोई भी सॉफ्टवेयर आसानी से शेयर कर सकते हैं।
  5. हम लोग नेटवर्क के द्वारा आसानी से सिक्योरिटी कर सकते हैं।

Network के प्रकार कितने होते हैं ?

जैसा कि आप जान गए होंगे अच्छी तरह से कि नेटवर्क क्या होता है। और नेटवर्क का use कहां-कहां होता है तो चलिए अब बताता हूं कि नेटवर्क के प्रकार कितने होते हैं।
ऐसे बात किया जाए तो नेटवर्क बहुत प्रकार के होते हैं लेकिन नेटवर्क को normal तीन भागों में बांटा गया है।
  1. LAN (local Area Network)
  2. MAN (Metropolitan  Area Network)
  3. WAN(wide Area Network)
1. LAN ( लोकल एरिया नेटवर्क)
तो चलिए बताते हैं लोकल एरिया नेटवर्क क्या है? Local एरिया नेटवर्क उसे कहते हैं जिसका प्रयोग दो या दो से अधिक कंप्यूटर को जोड़ने के लिए किया जाता है। Local एरिया नेटवर्क स्थाई स्तर पर काम करने वाला नेटवर्क है जिससे संक्षेप में लेन कहा जाता है यह एक ऐसा कंप्यूटर नेटवर्क है जो स्थानीय इलाकों पर यूज होता है। जैसे कि घर हो गया कार्यालय हो गया चाय भवन हो गया या समूह को कवर करता है। यह local एरिया नेटवर्क में ही use होता है इसका रेंज बहुत कम ही होता है। इसका डाटा ट्रांसफर रेट बहुत ही स्पीड होता है और इसमें डाटा सुरक्षित रहता है। इसमें डाटा को व्यवस्थित करना आसान होता है इसमें आप डाटा बहुत ही अच्छी तरीके से क्यों रख सकते हैं।
2. MAN (Metropolitan Area Network)
मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क उसे बोल सकते हैं जो कि एक पूरे शहर को जोड़ने वाला नेटवर्क है। एक शहर में जितने भी छोटे बड़े स्कूल कॉलेज गवर्नमेंट ऑफिस के नेटवर्क को जोड़ कर रखता है। यह नेटवर्क लैंड से भी बड़ा नेटवर्क होता है Man का रेंज 10 किलोमीटर से 100 किलोमीटर तक होता है बहुत सारे LAN को आपस में कनेक्ट करके बड़ा नेटवर्क बनाने के लिए इसका इस्तेमाल भी किया जाता है। इस तरह के नेटवर्क अगर एक कॉलेज कैंपस में इस्तेमाल होने लगे तो उसे कैंपस एरिया नेटवर्क भी बोलते हैं इसका सबसे अच्छा उदाहरण है केबल टीवी नेटवर्क लैंड टू लर्न कनेक्ट करके MAN का इस्तेमाल होता है। कोई भी बड़ा बिजनेस आर्गेनाईजेशन ही अपना खुद का MAN बनाता है जिसके जरिए वह अपने अलग-अलग ब्रांच को कनेक्ट कर सके और कम्युनिकेशन कर सकें।
3. WAN(Wide Area Network)
दोस्तों चलिए अब आपको बताता हूं वाइड एरिया नेटवर्क के बारे में वाइड एरिया नेटवर्क उसे कहते हैं MAN और MAN के बाद नेटवर्क आता है वही वाइड एरिया नेटवर्क कहलाता है। वैसे तो यह सब बड़ा नेटवर्क है जो कि पूरे ग्रुप के कंप्यूटर में कनेक्ट करके रखता है इसको WAN भी कहते हैं। मतलब वाइड एरिया नेटवर्क इस नेटवर्क की खासियत यह है कि डाटा रेट कम होता है। लेकिन ज्यादा डिस्टेंस कवर करता है उसे वाइड एरिया नेटवर्क कहते हैं। इसका सबसे अच्छा उदाहरण है इंटरनेट।
वैसे WAN दो प्रकार के होते हैं।
  • Enterprice WAN
  • Global WAN
आपको बता दें कि वाइड एरिया नेटवर्क के साथ कनेक्टेड होने वाले जितने भी कंप्यूटर्स ज्यादातर पब्लिक नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं। जैसे कि टेलीफोन लाइन लिस्ट लाइन और सैटेलाइट सबसे बड़ा वान है जैसे कि इंटरनेट। वैसे तो देखा जाए तो बहुत सारे वाइड एरिया नेटवर्क है जैसे पब्लिक पैकेट नेटवर्क लाज कॉरपेट नेटवर्क मिलिट्री नेटवर्क बैंकिंग नेटवर्क रेलवे रिजर्वेशन नेटवर्क और आखरी में एयरलाइन रिजर्वेशन नेटवर्क।
आपको बता दें कि 1 की जड़ी नेटवर्क की सुविधा देने वाली कंपनी को नेटवर्क सर्विस प्रोवाइडर कहते हैं मतलब यह कि इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर करते हैं इनको इंटरनेट का Core कहा जाता है।
दोस्तों जैसे कि मैंने आपको बता दिया कि Network Kya Hota Hai और नेटवर्क कितने प्रकार के होते हैं अगर आपको मेरा आर्टिकल अच्छा लगता है तो प्लीज Comment और Share जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.