Mohabbat Hai To Ijhar Karo Lyrics : Pushkar Chauhan Poetry In Hindi

0

Mohabbat Hai To Ijhar Karo Lyrics : Pushkar Chauhan Poetry In Hindi

Hy Friends आज हम आपके लिए The Social House से Pushkar Chauhan की Mohabbat Hai To Ijhar Karo का Lyrics लेकर आये हैं , Hope you Like It :-

मोहब्बत है तो इजहार करो लिरिक्स : पुष्कर चौहान 

Tum JaWan Ho Haseen Ho To Itraya Na Karo,

Tum JaWan Ho Haseen Ho To Itraya Na Karo,

Mohbbat Hai To Ijhar Karo Ghabraya Na Karo

Ki Kahte Hai Laj Sharm Ghahna hai Ladki Ka,

Tumhe Ghano Ki Jarurat Nahi Tum Sharmaya Na Karo.

Ki Tumhe Ghano Ki Jarurat Nahi Tum Sharmaya Na Karo.

Agar darte ho Ki Anjaam Mohabbat Me Kya Hoga ………….

Agar darte ho Ki Anjaam Mohabbat Me Kya Hoga ………….

To Dil Ki Baat Dil me Rakho Batlaya na Karo

Aur Kaha hai Ki

Tumhare Cahhne Wale Sirf ham nahi,

Bahut Hai Zamane Me.

Tumhare Cahhne Wale Sirf ham nahi,Bahut Hai Zamane Me.

Tum hame Cahhte Ho , To Bta Do Tadpaya Na Karo……………

Aur Agla Sher Kaha Hai Ye Har Ashiq ko Nazar karta Hu

Tumhari Aankho Se To Zakhni Hote Rahe Hai Aksar

Tumhari Aankho Se To Zakhni Hote Rahe Hai Aksar

Dekh Ke Muskurate Ho , Mar Jaayenge Muskuraya Na Karo

Suna Hai Ki Shabarab Sehat Ke Liye Hanikarak Hai Khoob ,

Thoda Raham Karo aankho ke nasheele Jaam Pilaya Na Karo.

Tum Zawa ho Haseen Ho Itaraya Na Karo…………….

Chaliye Agala Pesh Karte Hai…

Wo Jo Ek Surat Hai Badi Khoobsurat Hai ,

Wo Jo Ek Surat Hai Badi Khoobsurat Hai ,

Siddhat Se tarashi huyi Khuada ki Ek Murat hai,

aankho Me Nazakat aur tapka Noor Hai Chahare Se

Wo Jo Chanad Ooper Hai Uski Kya Zarurat Hai.

Use Hi Sochta Hu Ab , Use Hi Dhoondhta Hu Mai

Use Hi Sochta Hu Ab , Use Hi Dhoondhta Hu Mai

Khwabo Se Hakikat Me Lane Ki Ab Zarurat Hai

Wo Jo Ek Surat Hai Badi Khoobsurat Hai !

Use Hi Sochta Hu Ab , Use Hi Dhoondhta Hu Mai

Khwabo Se Hakikat Me Lane Ki Ab Zarurat Hai

Mohababt Se Wo nazare Kuch Bachake Ke Ghoomte Hai Par ,

Unhe kaise Mai Samjhaun Mujhe Unki Zarurat Hai.

Wo Jo Ek Surat Hai Badi Khoobsurat Hai !

Aur Agla Sher hai,

Aksar Unki Hi Tasweeren Mai Dekh Dekh Zeeta Hu,

Mila Nahi To Mar Zaunga , Milne Ki zarurat hai

Wo Jo Ek Surat Hai Badi Khoobsurat Hai !

Uski Aaankho Se Mai Shabd Churakar

Mai Aksar gazale Likhta Hu.

Har gazal Me Usko Likhta Hu ,

Har Gazal Me Uski soorat Hai

Wo Jo Ek Surat Hai Badi Khoobsurat Hai !

Mohabbat Hai To Ijhar Karo Lyrics : Pushkar Chauhan Poem In Hindi

तुम जवान हो हसीन हो तो इतराया ना करो,

तुम जवान हो हसीन हो तो इतराया ना करो,

मोहब्बत है तो इज़हार करो घबराया ना करो

की कहते है लाज शर्म गहना है लड़की का,

तुम्हे गहनों की ज़रूरत नही तुम शरमाया ना करो.

की तुम्हे गहनों की ज़रूरत नही तुम शरमाया ना करो.

अगर डरते हो की अंजाम मोहब्बत मे क्या होगा ………….

अगर डरते हो की अंजाम मोहब्बत मे क्या होगा ………….

तो दिल की बात दिल मे रखो बतलाया ना करो

और कहा है की

तुम्हारे चाहने वाले सिर्फ़ हम नही,

बहुत है ज़माने मे.

तुम्हारे चाहने वाले सिर्फ़ हम नही, बहुत है ज़माने मे.

तुम हमे क़हते हो , तो बता दो तडपया ना करो……………

और अगला शेर कहा है ये हर आशिक़ को नज़र करता हू

तुम्हारी आँखो से तो ज़ख़्नी होते रहे है अक्सर

तुम्हारी आँखो से तो ज़ख़्नी होते रहे है अक्सर

देख के मुस्कुराते हो , मर जाएँगे मुस्कुराया ना करो

सुना है की शराब सेहत के लिए हानिकारक है खूब ,

थोड़ा रहम करो आँखो के नशीले जाम पिलाया ना करो.

तुम ज़वा हो हसीन हो इतराया ना करो…………….

चलिए अगला पेश करते है…

वो जो एक सूरत है बड़ी खूबसूरत है ,

वो जो एक सूरत है बड़ी खूबसूरत है ,

सिद्धत से तराशीं हुई खुदा की एक मूरत है,

आँखो मे नज़ाकत और टपका नूवर है चहरे से

वो जो चानाद ऊपेर है उसकी क्या ज़रूरत है.

उसे ही सोचता हू अब , उसे ही ढूंढता हू मई

उसे ही सोचता हू अब , उसे ही ढूंढता हू मई

ख्वाबो से हक़ीकत मे लाने की अब ज़रूरत है

वो जो एक सूरत है बड़ी खूबसूरत है !

उसे ही सोचता हू अब , उसे ही ढूंढता हू मई

ख्वाबो से हक़ीकत मे लाने की अब ज़रूरत है

महोब्बत से वो नज़ारे कुछ बचके घूमते है पर ,

उन्हे कैसे मई समझौं मुझे उनकी ज़रूरत है.

वो जो एक सूरत है बड़ी खूबसूरत है !

और अगला शेर है,

अक्सर उनकी ही तस्वीरें मई देख देख ज़ीता हू,

मिला नही तो मार ज़ौँगा , मिलने की ज़रूरत है

वो जो एक सूरत है बड़ी खूबसूरत है !

उसकी आँखों से मै शब्द चुराकर

मै अक्सर ग़ज़ले लिखता हू.

हर ग़ज़ल मे उसको लिखता हू ,

हर ग़ज़ल मे उसकी सूरत है

वो जो एक सूरत है बड़ी खूबसूरत है !

Shekhar Mishra
Hi !! मै शेखर मिश्रा , आपका Bharat Ki Shan पर आपका हार्दिक स्वागत करता हूँ ! मै एक हिन्दी Blogger हूँ और अभी भारत की शान जैसे 28 Blogs पर काम कर रहा हूँ ! अभी मेरे पास इस author बॉक्स मे लिखने के लिए कुछ भी नहीं है , लेकिन जल्द ही हम हिन्दी भाषा के जरिये ही पूरे संसार पर पकड़ बनाने वाले हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.