Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai Lyrics In Hindi : Vihaan Goyal

1
394

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai Lyrics In Hindi : Vihaan Goyal :- आज हम आपसे Vihaan Goyal की BreakUp Poem Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai Lyrics Share कर रहे हैं |

Facebook पर अनजान लोगो से बात करने में मुझे बड़ा मज़ा आता है ,

पर अपने चाचा और ताऊ के बच्चो से बात करने में ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

गोवा के बीच पर मेरी Girlfriend बिकनी पहनकर मेरे साथ घूमती है ,

Hot है भाई Hot ,

लेकिन किसी दिन मेरी बहन अगर crop Top पहन कर भी College चली जाए न ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

Animal Love के नाम पर मै कुत्ते बिल्लियों को रोज दूध बिस्किट खिलाता हूँ ,

पर Signal पर कोई भूखा बच्चा आकर , मेरी गाड़ी का शीशा खटखटाता दे ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

15 अगस्त , 26 जनवरी और India पाकिस्तान के Match में ,

मुझसे ज्यादा जय हिन्द के नारे कोई नहीं लगाता है ,

लेकिन Theater में National Anthem पर खड़ा होने में ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

जानते है – जब मै छोटा था न , तो पापा मेरी उँगलियाँ पकड़कर मुझे चलना सीखाते थे , और गिर कर कभी रोने लगता था न , तो मुझे अपने कंधे पर बिठा लेते थे |

पर अब कभी रात को , अगर पापा मुझे पैर दबाने के लिए कह देते है न ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

हर weekend Party, दारू , नए कपड़े अपना खर्चा है भाई ,

पर 500 रूपये देकर अपने दादा जी का चश्मा ठीक कराने में ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

मै हिन्दू हूँ , मै हिन्दू हूँ , सारी पूजा पाठ करता हूँ ,

Loud Speaker पर भजन बजाता हूँ ,

पर किसी सुबह अजान की आवाज से ,मेरी नींद टूट जाए

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

जब तक मै हूँ घर में रहता हूँ न , मजाल है कोई Remote मेरे हाथ से छीन कर दिखाये ,

सारा दिन Sports के चैनल चलाता हूँ ,

पर माँ मेरे हाथ से Remote लेकर अगर छोटे भाई के हाथ में दे दे ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

मै train और Bus में कभी खड़े रहकर सफर नहीं करता ,

ना,

बैग फेंकर ही सीट पर कब्ज़ा कर लेता हूँ ,

लेकिन कोई बुजुर्ग , या कोई महिला आकर , मुझसे वो सीट छोड़ने को कह दे

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

मेरी बिल्डिंग का सफाई वाला ,

साले को तभी सफाई करनी रहती है ,

जब मुझे कहीं जाना रहता है |

फिर जूते के निशान पड़ते हैं , तो मुह फुलाता है ,

लेकिन किसी दिन उसे गले लगाकर ,

Sorry बोलने में मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

मैने  English , French जर्मन के सारे बड़े बड़े Writters को पढ़ा है ,

सोसायटी में Standerd बना है अपना !

लेकिन गो – स्वामी तुलसीदास , रविन्द्रनाथ टैगोर ,

या हरिवंशराय बच्चन को पढने में ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

जानते है हमारे अंदर ये Ego कब आता है ,जब हम अपने आप को बहुत बड़ा मान लेते हैं , और सामने वालो को उतना ही छोटा ,

लेकिन सामने वाला हमे उतना बड़ा नहीं मानता न , हमारे अंदर का ये Ego आ जाता है , मेरी सिर्फ आप लोगो से यही Request है , सबको Equal रखिये ना , वरना हमे इस सवाल का जवाब कभी नहीं मिलेगा ,

मेरा Ego क्यों Hurt हो जाता है ?

Mera Ego Kyo Hurt Ho Jata Hai

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here