Agar Tumhe Lagta Hai Lyrics in Hindi : Shweta Singh

0
318

Agar Tumhe Lagta Hai Lyrics in Hindi : Shweta Singh

अगर तुम्‍हें लगता है कि तुम मेरी शक्‍ल और मेरी आवाज से मेरी Age का अंदाजा लगा सकते हो, तो हो सकता है कि तुम गलत हो। ये एक Poem , लिखी है Yahya Bootwala ने जिसका जवाब लिखने की कोशिश की है Shweta Singh ने !!

Shweta Singh Reply To Yahya Bootwala

क्‍योंकि अगर तुम्‍हें लगता है कि,

उस एक कहानी के लिए हजारों किस्‍से गवाना ठीक है।

तो हो सकता है कि तुम गलत हो।

वो अक्‍सर कहता है,

वो अक्‍सर कहता है कि Love at first sight,

शायद मोहब्‍बत नहीं होती।

पर अगर नहीं होती तो तुझे पहली बार देखकर मुझे तुझसे यूं चाहत नहीं होती,

वो अक्‍सर कहता है,

वो अक्‍सर कहता है कि ये मोहब्‍बत है यार कोई परिन्‍दा नहीं,

तो इसे कैद में क्‍यों रखना।

पर अक्‍सर हम सबसे प्‍यारी चीज को ज़माने से छुपाते है उसे बचाने के लिए है ना।

वो अक्‍सर कहता है कि यूं देर रात तक Chatting,

ये बाते यूं समझना समझाना शायद मोहब्‍बत नहीं।

पर फिर क्‍यूं हम तलाश में रहते है,

एक ऐसे शख्‍स की, एक ऐसे इंसान की, एक ऐसे चेहरे

की जो सिर्फ और सिर्फ हमें समझने का हुनर रखता हो।

वो अक्‍सर कहता है मोहब्‍बत है ये किसी संख्‍या की मोहताज नहीं,

और तारीखों की तो पाबन्‍द ये बिल्‍कुल नहीं है।

तो फिर क्‍यूं अगर मेरे Birthday पे मेरा Crush,

मुझे गलती से सबसे पहले Wish कर दे,

तो ऐसी Feeling आती है यार कि मन में एक लड्डु नहीं,

पूरी की पूरी मिठाई की दुकान  फूट गयी हो।

वो अक्‍सर कहता है वो अक्‍सर कहता है कि,

जहां मोहब्‍बत होती है वहां Jealousy नहीं होती।

लेकिन हक तो अक्‍सर उसी पे जमाया जाता है ना,

जो हमारा अपना हो।

वो कहता है ये facebook, ये Instagram, ये snapchat,

शायद ज़रिया ही नहीं मोहब्‍बत को बयां करने का।

फिर क्‍यूं आज जब Facebook पर अपने दोस्‍तों के,

serial memories में पुराने snaps देखती हूं,

तो सब कमीनों की शक्‍ल linewise सामने आ जाती है।

कि कल की ही तो बात थी सब यार साथ थे।

अरे यार, ये मोहब्‍बत है।

ये मोहब्‍बत है कोई FD या Insurance नहीं,

ये Terms & Conditions के साथ नहीं आती।

इसमें Guarantee नहीं होती कि ये Permanent  होगी,

या किसी Specific से होगी।

इसमें कोई Premium packages या Offers नहीं होते,

कि वो Handsome होने के साथ-साथ  Loyal भी होगा।

और वो खूबसूरत होने के साथ-साथ प्‍यारी भी होगी।

मोहब्‍बत तो हर उस लम्‍हें में है जो तुमने खुलकर जी लिया,

जो तुम्‍हारी ज़हन में कुछ ऐसा समाया कि,

जब भी आया तो होंठों पे हंसी और आंखों में नमी ले आया।

मोहब्‍बत तो पापा की डांट में भी है,

मोहब्‍बत तो दोस्‍तों के साथ में भी है।

मोहब्‍बत तो बारिश वाली रात में भी है।

मोहब्‍बत तो तेरी-मेरी बात में भी है।

मोहब्‍बत तो Crush के Reply में भी है।

मोहब्‍बत तो तेरे घन्‍टों बाद आने वाले Hy में भी है।

और जब पास में कुछ भी न हो ना,

तो मोहब्‍बत सुबह की चार बजे वाली एक प्‍याली चाय में भी है।

अरसा लग जाता है हमें उस शख्‍स से मिलने में,

या फिर कहानी बनने में,

वो भी बिना इस Guarantee के कि ये कहानी पूरी होगी या अधूरी।

तो ये कहानी तुम्‍हें मिले या न मिले,

पर ये जो छोटे-छोटे किस्‍से है ना,

ये तुम्‍हें रोज मिलने वाले है।

तो इन लम्‍हों के किस्‍सों को फोटोग्राफ बना के,

अपनी Life की Scrapbook में लगालो और बना लो यादें।

क्‍योंकि क्‍या पता  कल ये किस्‍सा ढ़ूढ़ते- ढ़ूढ़ते,

तुम्‍हें तुम्‍हारी पूरी कहानी मिल जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here